IMPORTANT LINKS
HOME
ABOUT US
ADMINISTRATION
UPDATE NEWS
BOARD ORDER
PATTA AVANTAN
GALLERY
CONTACT US
MAP
PRESS RELEASE
IMPORTANT INSTRUCTION
HISTORY
RIGHT TO INFORMATION
ACTS RULES & MANUALS
GALLERY

ABOUT US


   राजस्वक परिषद, उ0प्र0,लखनऊ राजस्वय प्रशासन का सबसे महत्व‍पूर्ण विभागाध्यनक्ष है। इसके अंतगर्त मण्डेलायुक्त,, जिलाधिकारी एवं उनके अधीन समस्त राजस्वध प्राधिकारी आते हैं। मण्डमलायुक्तु को सहयोग देने के लिए अपर मण्डउलायुक्त‍ होते हैं। इसी प्रकार जिलाधिकारी के अधीन अपर जिलाधिकारी, उपजिलाधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, राजस्वी निरीक्षक तथा लेखपाल आतें हैं। इसके अतिरिक्त् राजस्वल परिषद के अधीन सर्वेक्षण एवं अभिलेख क्रियायें संचालित होती हैं। यह कार्य जिलाधिकारी के पर्यवेक्षण में सहायक अभिलेख द्वारा किया जाता है। राजस्वि परिषद में प्रशासनिक कार्यालय एवं न्या यिक सदस्यं होते हैं। राजस्वज परिषद का लखनऊ में प्रशासनिक कार्यालय है। यहाँ पर प्रशासनिक एवं न्याहयिक सदस्यस वादों का निस्ताेरण करते हैं। प्रशासनिक सदस्यल प्रशासनिक कार्यों का भी सम्पाददन करते हैं। इलाहाबाद में राजस्वै परिषद के न्यादयिक सदस्य् बैठते हैं। महानिरीक्षक निबंधन राजस्वस परिषद के पदेन अपर सचिव होते हैं। इनका मुख्या्लय इलाहाबाद में है। राजस्वक परिषद का सॄजन राजस्वप परिषद अधिनियम के अंतर्गत किया गया है।

राजस्वप सचिव शाखा के अधीन दूसरे विभागाध्ययक्ष चकबंदी अयुक्तज है। इस विभाग का काम खातेदारों की बिखरी जोतों को एकत्रित करना है। इसके अतिरिक्तत यह विभाग खातेदारों की जोतों से एक निर्धारित प्रतिशत से कटौति करके उसे विभिन्नु सार्वजनिक उददेश्योंज के लिए आरक्षित करता है। खातेदारों को चक आवंटित करने के साथ-साथ चको के लिए एवं चकमार्ग की व्यकवस्था। की जाती है। चकबंदी आयुक्तह के अधीन अपर आयुक्त चकबंदी, संयुक्तक/उप/सहायक संचालन चकबंदी, बंदोबस्त‍ अधिकारी, चकबन्दीक (जिसके अंतर्गत अपर बंदोबस्तत अधिकारी चकबन्दीच एवं सहायक बंदोबस्त अधिकारी भी शामिल है) चकबन्दीं अधिकारी, सहायक चकबन्दीं अधिकारी चकबन्दीतकर्ता तथा चकबन्दीभ लेखपाल होते हैं। इसके अतिरिक्ती आयतीकरण इकाइयों में आयतीकरण अधिकारी, सहायक आयतीकरण अधिकारी एवं अन्यब कर्मचारी होते हैं।

निदेशक भूमि अध्यातप्ति का कार्यालय राजस्व परिषद लखनऊ के परिसर में स्थित है। भूमि अर्जन अधिनियम के अन्त र्गत राजस्वि परिषद लखनऊ के परिसर में स्थित है। भूमि अर्जन अधिनियम के अन्त र्गत कार्यवाही करने के लिए जिला स्तपर पर विशेष भूमि अध्यारप्ति अधिकारियों एवं/ अथवा अपर जिलाधिकारी(भूमि अध्या प्ति) की तैनाती की जाती है। भूमि अध्यायप्ति अधिनियम के अन्तवर्गत जिलाधिकारी, मण्डतलायुक्तक एवं राजस्वि परिषद द्वारा अवार्ड उनकी वित्तीाय शक्तियों के अनुसार घोषित किये जाते हैं। यह कार्यवाही भूमि अर्जन अधिनियम, भूमि अर्जन मैनुअल तथा शासनादेशों की जाती है। राजस्वै विभाग के अधीन एक विभागाध्यतक्ष राहत आयुक्तै है। इस पद पर विशेष सचिव या सचिव स्तभर के अधिकारी की तैनाती की जाती है। राहत आयुक्तै का प्रमुख कार्य दैवी आपदाओं के संबंध में आर्थिक सहायता प्रदान करना तथा आपदा प्रबंधन की योजना तैयार करना है। इस आपदा राहत का वितरण जिलाधिकारियों के माध्यतम से किया जाता है। राजस्वा विभाग के अधीन पाँचवा एवं अंतिम विभागाध्यधक्ष प्रमुख संपादक, जिला गजेटियर है। इनका कार्यालय जवाहर भवन लखनऊ में स्थित है। इस विभाग का कार्य जिलों के गजेटियर तैयार करना है। गजेटियर में जिले से संबंधित सभी आवश्यसक सूचनाएँ रहती हैं। प्रदेश स्तेर पर अंग्रजी भाषा में एक राज्य गजेटियर जो पाँच खण्डों में है, तैयार कराया गया है।